May 29, 2024 11:12 am

इंडिगो का स्टॉक 3% उछला और 52 सप्ताह के नए उच्च स्तर पर पहुंचा

इंडिगो का स्टॉक 3% उछला और 52 सप्ताह के नए उच्च स्तर पर पहुंचा

इंडिगो का स्टॉक 3% उछला और 52 सप्ताह के नए उच्च स्तर पर पहुंचा क्योंकि कंपनी ने 500 विमानों के लिए रिकॉर्ड ऑर्डर की घोषणा की

 

इंडिगो की मूल कंपनी, इंटरग्लोब एविएशन, ने हाल ही में खबर बनाई थी क्योंकि मंगलवार के कारोबारी सत्र के दौरान इंडिगो का स्टॉक स्टॉक ने 52-सप्ताह के उच्च स्तर को छुआ और लगभग 3% बढ़ गया। इंडिगो एक कम लागत वाली एयरलाइन है जो भारत से बाहर संचालित होती है। शेयर की कीमतों में उल्लेखनीय वृद्धि एयरबस ए320 परिवार से संबंधित 500 विमानों के लिए इंडिगो के ऐतिहासिक ऑर्डर का प्रत्यक्ष परिणाम थी। यह डील किसी भी एयरलाइन द्वारा एयरबस के साथ दिया गया सबसे बड़ा एकल खरीद ऑर्डर था और शेयर की कीमतों में उछाल का कारण बना। यह महत्वपूर्ण अधिग्रहण, जिसकी कीमत लगभग $50 बिलियन होने की उम्मीद है, न केवल भारत के विमानन व्यवसाय में इंडिगो की प्रमुख स्थिति को और मजबूत करता है, बल्कि यह विदेशी गंतव्यों में और विस्तार का मार्ग भी निर्धारित करता है।

 

एयरबस ए320 श्रृंखला के 500 विमानों के लिए इंडिगो द्वारा हाल ही में दिए गए ऑर्डर के परिणामस्वरूप विमानन क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण नए बेंचमार्क पर पहुंच गया है। इस आदेश के साथ, इंडिगो ने एयर इंडिया के पिछले रिकॉर्ड को पार कर लिया है, जो मार्च के महीने में एयरबस से 470 विमानों का ऑर्डर था। लेन-देन में एयरबस विमान की एक किस्म शामिल है, जिसमें A320 नियो, A321 नियो और A321 XLR वेरिएंट शामिल हैं। यह अनुमान लगाया गया है कि इन विमानों की डिलीवरी वर्ष 2030 और 2035 के बीच होगी। जब वे आएंगे, तो इंडिगो के पास विमानों का एक बेड़ा होगा जो ईंधन के उपयोग में आधुनिक और किफायती दोनों है, जिससे यह बढ़ती मांग को बेहतर ढंग से पूरा कर सकेगा। भारत और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हवाई यात्रा के लिए।

इंडिगो की वर्तमान बाजार स्थिति, साथ ही उनकी भविष्य की विस्तार योजनाएं

फिलहाल, भारत का एविएशन मार्केट पूरी दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा मार्केट है। यह देखते हुए कि इंडिगो देश की सबसे बड़ी एयरलाइन है, कंपनी इस बाजार के विस्तार से लाभान्वित होने की उत्कृष्ट स्थिति में है। इंडिगो के नेतृत्व और बाजार प्रभुत्व दोनों को रिकॉर्ड तोड़ विमान ऑर्डर से मजबूत किया गया है, जो प्रतिद्वंद्वी एयरलाइंस की तुलना में इंडिगो की प्रतिस्पर्धी बढ़त को भी मजबूत करता है।

इसके अतिरिक्त, महामारी के बाद हुई हवाई यात्रा का पुनरुत्थान, बढ़ते उपभोक्ता खर्च और उड़ानों के लिए बढ़ती प्राथमिकता के साथ, इंडिगो की विस्तार योजनाओं के लिए एक अच्छा माहौल बनाता है। एयरलाइन ने हाल ही में अपने बेड़े का उन्नयन किया है और अब अतिरिक्त विदेशी स्थानों के लिए सेवा शुरू करने की स्थिति में है। यह इसे भारत को शेष दुनिया से जोड़ने और यात्रियों की निरंतर विकसित होने वाली यात्रा आवश्यकताओं को बेहतर ढंग से पूरा करने की अनुमति देगा।

इंटरग्लोब एविएशन ए320 परिवार का सबसे बड़ा ग्राहक बन गया है

इंटरग्लोब एविएशन द्वारा 500 एयरबस विमानों के लिए दिया गया बड़ा ऑर्डर दुनिया में A320 परिवार के सबसे बड़े ग्राहक के रूप में कंपनी की स्थिति की पुष्टि करता है। इस आदेश के साथ, इंटरग्लोब एविएशन के पास वर्तमान समय में कुल 1,330 एयरबस विमान ऑर्डर पर हैं। यह महत्वपूर्ण उपलब्धि अपने विमान बेड़े को अपग्रेड करने और अपने ग्राहकों को बेहतर यात्रा अनुभव प्रदान करने के लिए एयरलाइन के समर्पण का उदाहरण है।

बाजार से प्रतिक्रियाएं और विशेषज्ञों की राय

इंडिगो के मील के पत्थर के विमान सौदे की घोषणा के परिणामस्वरूप निवेशकों और उद्योग के पेशेवरों के बीच काफी उत्साह पैदा हुआ है। इंडिगो के स्टॉक के अनुकूल तकनीकी विश्लेषण द्वारा एक तेजी की प्रवृत्ति का सुझाव दिया गया था, जिस पर इनक्रेड इक्विटीज के उपाध्यक्ष गौरव बिस्सा ने जोर दिया था। बिस्सा ने मौजूदा शेयरधारकों को मंदी के हार्मोनिक पैटर्न को इंगित करने के बाद आंशिक लाभ दर्ज करने पर विचार करने के लिए आगाह किया। हालाँकि, बिस्सा ने पैटर्न को सामने लाया।

इंटरग्लोब एविएशन को अंतरराष्ट्रीय ब्रोकरेज फर्म मॉर्गन स्टेनली द्वारा खरीदारी की सिफारिश दी गई है, जो कंपनी की बाजार हिस्सेदारी और मार्जिन के रुझान में सुधार पर प्रकाश डालती है। कंपनी ने एयरलाइन की अपेक्षाकृत कम यूनिट लागत के लिए कई कारकों को जिम्मेदार ठहराया, जिनमें बल्क एयरक्राफ्ट ऑर्डर, परिचालन पट्टों और वाहनों के ईंधन-कुशल बेड़े शामिल हैं।

निष्कर्ष

इंडिगो की हाल ही में एयरबस से 500 विमानों की खरीद ने कंपनी के शेयरों को 52 सप्ताह के उच्च स्तर पर पहुंचा दिया है, जो विस्तार के लिए एयरलाइन की क्षमता में निवेशकों के भरोसे को उजागर करता है। इंडिगो की विस्तार योजनाएं, जो उसके नए एयरबस बेड़े द्वारा संचालित होंगी, भारत के विमानन व्यवसाय में सुधार और एयरलाइन सीटों की बढ़ती मांग को देखते हुए सुविधाजनक समय पर आई हैं। इंडिगो नए विदेशी गंतव्यों में जाते हुए भारत में अपने वर्चस्व को बनाए रखने के लिए तैयार है, क्योंकि यह दुनिया में कहीं भी ए320 परिवार का सबसे बड़ा ग्राहक है। यह मील का पत्थर आदेश न केवल भारतीय विमानन के भविष्य के लिए एयरलाइन की रणनीतिक दृष्टि को दर्शाता है, बल्कि यह असाधारण ग्राहक सेवा प्रदान करने के लिए एयरलाइन के समर्पण को भी प्रदर्शित करता है।

talktoons@
Author: talktoons@

Spread the love